रंग

short poems

रंगों  का बड़ा शौक है उसे ,

जिस दिन से आयी वो घर में,

परदे गुलाबी हो गए और जिंदगी सुनहरी ।